Common Service Center का रजिस्ट्रेशन से लेकर कमाने तक की पूरी जानकारी, 2022 में |

0
Advertisement

Common Service Center एक ऐसा प्रोजेक्ट रहा है जो भारत को डिजिटलाइजेशन करने की मुहीम से जुड़ा हुआ है । इनके माध्यम से सरकार का लक्ष्य ग्रामीण भारत में निवासित लोगों को जरुरी सूचनाओं एवं सेवाओं की सुविधा प्रदान करने से है। कहने का अभिप्राय यह है की इस तरह के ये सेण्टर खोलने की योजना सरकार द्वारा आयोजित एवं लागू की गई थी। ताकि लोगों को सरकार द्वारा चलाई जाने वाली विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने के लिए विभिन्न कार्यालयों के चक्कर न काटकर केवल अपने एरिया में स्थित कॉमन सर्विस सेण्टर तक ही जाना पड़े।

यद्यपि एक रजिस्टर्ड CSC चला रहे उद्यमियों को विभिन्न दस्तावेज एवं योजनाओं के तहत लोगों को ऑनलाइन पंजीकृत कराने की लिमिटेड परमिशन दी हुई होती है। लेकिन बहुत सारे सरकारी दस्तावेज जारी करने में प्राइवेसी इत्यादि का ध्यान रखना भी बेहद जरुरी होता है। इसलिए ऐसे दस्तावेजों को बनाने के लिए पहला स्टेप Common Service Center द्वारा किया जाता है तो उसके बाद उस व्यक्ति को सम्बंधित विभाग में उस विशेष डॉक्यूमेंट बनाने के लिए भेज दिया जाता है।

Advertisement

उदाहरणार्थ: माना किसी ग्रामीण वासी को अपना पासपोर्ट बनाना है तो वह कॉमन सर्विस सेण्टर के माध्यम से इसके लिए आवेदन कर सकता है। लेकिन आगे की प्रक्रिया के लिए उसका पासपोर्ट ऑफिस में जाना अनिवार्य होता है।

Common Service Center क्या है? (What Is CSC In Hindi):  

Common Service Center को हिंदी में सर्व सेवा केंद्र भी कहा जा सकता है। इन्हें शुरू करने का लक्ष्य भारत सरकार की ऑनलाइन सेवाओं को ग्रामीण एवं दूरस्थ इलाकों तक पहुँचाने का है। क्योंकि जब इस तरह का यह कार्यक्रम शुरू किया गया था तब ग्रामीण एवं दूरस्थ इलाकों में कंप्यूटर एवं इन्टरनेट की उपलब्धता लगभग नगण्य थी। लेकिन आज स्थिति में सुधार हुआ है और इन्टरनेट की उपलब्धता ग्रामीण इलाकों में बढ़ी है। CSC एक ही भौगौलिक स्थान पर कई तरह की सुविधाएँ प्रदान करने वाला एक मॉडल है।

Advertisement

इसलिए यह दूरदराज के क्षेत्रों में नागरिकों को बिजनेस टू कस्टमर सेवाओं का नेतृत्व तो करता ही है। इसके अलावा आवश्यक जनोपयोगी सेवाएँ, सामजिक कल्याण की योजनायें, स्वास्थ्य सेवाएँ, वित्तीय सेवाएँ एवं शिक्षा एवं कृषि सेवाओं को लोगों तक पहुँचाने का एक माध्यम है । चूँकि इसका नेटवर्क सम्पूर्ण भारत में फैला हुआ है। इसलिए यह सामजिक, आर्थिक एवं डिजिटल तौर पर समावेशी सरकार की कल्पना को सार्थक बनाता है।  

कॉमन सर्विस सेण्टर खोलने के लिए पात्रता (CSC Eligibility):

यदि आप Common Service Center शुरू करना चाहते हैं तो आपको इसकी पात्रता सम्बन्धी नियमों को जानना बेहद जरुरी हो जाता है। तो आइये जानते हैं की कौन कौन लोग CSC खोलने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Advertisement
  • आवेदनकर्ता की उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी अनिवार्य है।
  • आवेदनकर्ता के पास एक वैलिड आधार कार्ड एवं पैन कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदन करते समय आवेदनकर्ता को सेण्टर की जिओटैग की हुई फोटो सबमिट करने की आवश्यकता हो सकती है। 
  • जहाँ तक शैक्षणिक योग्यता की बात है आवेदनकर्ता कम से कम मेट्रिक पास हो या इसके समकक्ष कोई और परीक्षा पास की हो ।
  • आवेदक को स्थानीय भाषा अच्छी तरह से लिखनी एवं पढनी आनी चाहिए।
  • उम्मीदवार को अंग्रेजी एवं कंप्यूटर की आधारभूत जानकारी होनी चाहिए।        

Common Service Center शुरू करने के लिए आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर

यदि आप Common Service Center शुरू करना चाहते हैं तो ध्यान रहे की आपको पात्रता नियमों में तो खरा उतरने की आवश्यकता होती ही है। और यदि आप कॉमन सर्विस सेण्टर खोलने के लिए पात्र हैं तो उसके बाद आपको कुछ आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर की भी आवश्यकता होती है। जिसकी लिस्ट कुछ इस प्रकार से है।

  • एक कमरा या बिल्डिंग जो कम से कम 100-150 Square Feet में बनी हो।
  • कम से कम दो कंप्यूटर या फिर लैपटॉप वो भी पोर्टेबल जनरेटर या इनवर्टर के साथ। जिसमें ऑपरेटिंग सिस्टम पायरेटेड न होके लाइसेंस्ड हो।
  • कम से कम दो इंकजेट या अन्य प्रिंटर।
  • कंप्यूटर या लैपटॉप में कम से कम 512 MB की रैम डली हुई हो।
  • कम से कम 120 GB की हार्ड डिस्क लगी हुई हो।
  • वेब कैम या डिजिटल कैमरा की आवश्यकता हो सकती है।
  • इन्टरनेट कनेक्शन।
  • बैंकिंग सर्विस इत्यादि के लिए बायोमेट्रिक मशीन या स्कैनर।
  • सीडी/ डीवीडी ड्राइव।        

कॉमन सर्विस सेण्टर के कार्य (Functions of CSC in Hindi):

अक्सर लोग Common Service Center के कार्य या ये जानने की कोशिश करते हैं की वे सीएसी शुरू करके क्या क्या कर सकते हैं। इसलिए हम यहाँ पर इसके कार्यों की एक लिस्ट उल्लेखित कर रहे हैं।

Advertisement
  • CSC के कार्यों की बात करें तो सरकार को अपने उपभोक्ताओं या नागरिकों को जितनी भी सेवाएं जैसे स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, मानव संसाधन विकास, मौलिक अधिकार, आपदा चेतावनी, रोजगार , आरटीआई सम्बन्धी सभी जरुरी सूचनाएं लोगों तक पहुंचाना।
  • लोगों को स्थानीय भाषा इंटरफ़ेस, उच्च गुणवत्ता वाली विडियो, आवाज एवं वेब ब्राउज़िंग सहित जानकारी प्रदान करना।
  • शैक्षिक एवं मनोरंजन के उद्देश्य से होने वाले समूह बातचीत, मनोरंजन, प्रशिक्षण और सशक्तीकरण के लिए बहुआयामी स्थान प्रदान करना।
  • ई-गवर्नेंस और ई-सेवाएं से सम्बंधित सभी सेवाएँ जैसे ई-कृषि, बैंकिंग, बीमा, यात्रा, पोस्ट, सरकारी सेवाओं इत्यादि के लिए आवेदन करना और ई फॉर्म भरना ।
  • अनुरोध, सुझाव, शिकायतों से सम्बंधित सेवाएँ ।
  • आने वाले समय में Common Service Center के कार्य में टेलीमेडिसिन एवं दूरस्थ स्वास्थ्य शिविरों को भी शामिल किया जा सकता है ।

Common Service Center एक ऐसा प्रोजेक्ट रहा है जो भारत को डिजिटलाइजेशन करने की मुहीम से जुड़ा हुआ है । इनके माध्यम से सरकार का लक्ष्य ग्रामीण भारत में निवासित लोगों को जरुरी सूचनाओं एवं सेवाओं की सुविधा प्रदान करने से है। कहने का अभिप्राय यह है की इस तरह के ये सेण्टर खोलने की योजना सरकार द्वारा आयोजित एवं लागू की गई थी। ताकि लोगों को सरकार द्वारा चलाई जाने वाली विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने के लिए विभिन्न कार्यालयों के चक्कर न काटकर केवल अपने एरिया में स्थित कॉमन सर्विस सेण्टर तक ही जाना पड़े।

यद्यपि एक रजिस्टर्ड CSC चला रहे उद्यमियों को विभिन्न दस्तावेज एवं योजनाओं के तहत लोगों को ऑनलाइन पंजीकृत कराने की लिमिटेड परमिशन दी हुई होती है। लेकिन बहुत सारे सरकारी दस्तावेज जारी करने में प्राइवेसी इत्यादि का ध्यान रखना भी बेहद जरुरी होता है। इसलिए ऐसे दस्तावेजों को बनाने के लिए पहला स्टेप Common Service Center द्वारा किया जाता है तो उसके बाद उस व्यक्ति को सम्बंधित विभाग में उस विशेष डॉक्यूमेंट बनाने के लिए भेज दिया जाता है।

Advertisement

उदाहरणार्थ: माना किसी ग्रामीण वासी को अपना पासपोर्ट बनाना है तो वह कॉमन सर्विस सेण्टर के माध्यम से इसके लिए आवेदन कर सकता है। लेकिन आगे की प्रक्रिया के लिए उसका पासपोर्ट ऑफिस में जाना अनिवार्य होता है।

Common Service Center क्या है? (What Is CSC In Hindi):  

Common Service Center को हिंदी में सर्व सेवा केंद्र भी कहा जा सकता है। इन्हें शुरू करने का लक्ष्य भारत सरकार की ऑनलाइन सेवाओं को ग्रामीण एवं दूरस्थ इलाकों तक पहुँचाने का है। क्योंकि जब इस तरह का यह कार्यक्रम शुरू किया गया था तब ग्रामीण एवं दूरस्थ इलाकों में कंप्यूटर एवं इन्टरनेट की उपलब्धता लगभग नगण्य थी। लेकिन आज स्थिति में सुधार हुआ है और इन्टरनेट की उपलब्धता ग्रामीण इलाकों में बढ़ी है। CSC एक ही भौगौलिक स्थान पर कई तरह की सुविधाएँ प्रदान करने वाला एक मॉडल है।

Advertisement

इसलिए यह दूरदराज के क्षेत्रों में नागरिकों को बिजनेस टू कस्टमर सेवाओं का नेतृत्व तो करता ही है। इसके अलावा आवश्यक जनोपयोगी सेवाएँ, सामजिक कल्याण की योजनायें, स्वास्थ्य सेवाएँ, वित्तीय सेवाएँ एवं शिक्षा एवं कृषि सेवाओं को लोगों तक पहुँचाने का एक माध्यम है । चूँकि इसका नेटवर्क सम्पूर्ण भारत में फैला हुआ है। इसलिए यह सामजिक, आर्थिक एवं डिजिटल तौर पर समावेशी सरकार की कल्पना को सार्थक बनाता है।  

कॉमन सर्विस सेण्टर खोलने के लिए पात्रता (CSC Eligibility):

  • आवेदनकर्ता की उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी अनिवार्य है।
  • आवेदनकर्ता के पास एक वैलिड आधार कार्ड एवं पैन कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदन करते समय आवेदनकर्ता को सेण्टर की जिओटैग की हुई फोटो सबमिट करने की आवश्यकता हो सकती है। 
  • जहाँ तक शैक्षणिक योग्यता की बात है आवेदनकर्ता कम से कम मेट्रिक पास हो या इसके समकक्ष कोई और परीक्षा पास की हो ।
  • आवेदक को स्थानीय भाषा अच्छी तरह से लिखनी एवं पढनी आनी चाहिए।
  • उम्मीदवार को अंग्रेजी एवं कंप्यूटर की आधारभूत जानकारी होनी चाहिए।        

Common Service Center शुरू करने के लिए आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर

यदि आप Common Service Center शुरू करना चाहते हैं तो ध्यान रहे की आपको पात्रता नियमों में तो खरा उतरने की आवश्यकता होती ही है। और यदि आप कॉमन सर्विस सेण्टर खोलने के लिए पात्र हैं तो उसके बाद आपको कुछ आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर की भी आवश्यकता होती है। जिसकी लिस्ट कुछ इस प्रकार से है।

Advertisement
  • एक कमरा या बिल्डिंग जो कम से कम 100-150 Square Feet में बनी हो।
  • कम से कम दो कंप्यूटर या फिर लैपटॉप वो भी पोर्टेबल जनरेटर या इनवर्टर के साथ। जिसमें ऑपरेटिंग सिस्टम पायरेटेड न होके लाइसेंस्ड हो।
  • कम से कम दो इंकजेट या अन्य प्रिंटर।
  • कंप्यूटर या लैपटॉप में कम से कम 512 MB की रैम डली हुई हो।
  • कम से कम 120 GB की हार्ड डिस्क लगी हुई हो।
  • वेब कैम या डिजिटल कैमरा की आवश्यकता हो सकती है।
  • इन्टरनेट कनेक्शन।
  • बैंकिंग सर्विस इत्यादि के लिए बायोमेट्रिक मशीन या स्कैनर।
  • सीडी/ डीवीडी ड्राइव।         

इन सबको खरीदने में उद्यमी को लगभग 1 से 1.5 लाख रूपये खर्च करने की आवश्यकता हो सकती है। यद्यपि इसमें दुकान का किराया इत्यादि शामिल नहीं है।

कॉमन सर्विस सेण्टर के कार्य (Functions of CSC in Hindi):

अक्सर लोग Common Service Center के कार्य या ये जानने की कोशिश करते हैं की वे सीएसी शुरू करके क्या क्या कर सकते हैं। इसलिए हम यहाँ पर इसके कार्यों की एक लिस्ट उल्लेखित कर रहे हैं।

Advertisement
  • CSC के कार्यों की बात करें तो सरकार को अपने उपभोक्ताओं या नागरिकों को जितनी भी सेवाएं जैसे स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, मानव संसाधन विकास, मौलिक अधिकार, आपदा चेतावनी, रोजगार , आरटीआई सम्बन्धी सभी जरुरी सूचनाएं लोगों तक पहुंचाना।
  • लोगों को स्थानीय भाषा इंटरफ़ेस, उच्च गुणवत्ता वाली विडियो, आवाज एवं वेब ब्राउज़िंग सहित जानकारी प्रदान करना।
  • शैक्षिक एवं मनोरंजन के उद्देश्य से होने वाले समूह बातचीत, मनोरंजन, प्रशिक्षण और सशक्तीकरण के लिए बहुआयामी स्थान प्रदान करना।
  • ई-गवर्नेंस और ई-सेवाएं से सम्बंधित सभी सेवाएँ जैसे ई-कृषि, बैंकिंग, बीमा, यात्रा, पोस्ट, सरकारी सेवाओं इत्यादि के लिए आवेदन करना और ई फॉर्म भरना ।
  • अनुरोध, सुझाव, शिकायतों से सम्बंधित सेवाएँ ।
  • आने वाले समय में Common Service Center के कार्य में टेलीमेडिसिन एवं दूरस्थ स्वास्थ्य शिविरों को भी शामिल किया जा सकता है ।
  • बीमा सेवाएँ एवं ग्रामीण बैंकिंग सेवाएँ माइक्रो क्रेडिट, ऋण, बीमा इत्यादि भी सीएसी के कार्यों की लिस्ट में शामिल हैं।

VLE क्या है

VLE का फुल फॉर्म Village Level Entrepreneur है यह एक ऐसा व्यक्ति है जो विभिन्न सरकारी एवं गैर सरकारी सेवाएँ उपभोक्ताओं को अपने कॉमन सर्विस सेण्टर के माध्यम से दे रहा होता है । उपभोक्ताओं को सुरक्षा एवं सुविधा के साथ जगह उपलब्ध कराना, ई सेवा पोर्टल की सेवाएँ प्रदान करना, एवं दिन के समय कीओस्क बैंकिंग सेवा उपलब्ध कराना भी VLE की ही जिम्मेदारी होती है। आम बोलचाल की भाषा में Common Service Center चलाने वाले व्यक्ति को ही VLE कह सकते हैं। 

Common Service Center खोलने के लिए आवेदन कैसे करें?

कॉमन सर्विस सेण्टर खोलने के लिए इच्छुक व्यक्ति आसानी से ऑनलाइन आवेदन कर सकता है । और ध्यान रहे इसके लिए सरकार द्वारा किसी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लिया जाता है यह एक फ्री यानिकी निशुल्क सुविधा सरकार ने दी हुई है। इसलिए ऐसे लोग जिनके पास वैलिड आधार कार्ड एवं पैन कार्ड है वे सरकार की इस अधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं।

Advertisement

इसमें तीन श्रेणियाँ VLE, Self Help Group, Rural Development Department (RDD) दी गई हैं । आवेदनकर्ता को इनका चुनाव ड्राप डाउन मेनू से करना होता है यदि आवेदनकर्ता व्यक्तिगत तौर पर आवेदन करना चाहता है तो वह VLE का चुनाव कर सकता है । बाकी सेल्फ हेल्प ग्रुप एवं RDD का चयन करके आगे बढ़ सकते हैं। व्यक्तिगत व्यक्ति को आवेदन के समय वेरीफाई करने के लिए आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर एक OTP आता है।

जब आवेदन प्रक्रिया पूर्ण हो जाती है तो उसके कुछ दिन बाद उद्यमी को सीएससी रजिस्ट्रेशन की जानकारी ईमेल या फोन के माध्यम से दे दी जाती है और बाकी क्रेडिनिश्यल भी प्रदान किये जाते हैं।

Advertisement

नोट: यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की अभी VLE की जितनी आवश्यकता थी उतने सभी पूर्ण हो चुके हैं इसलिए इनका रजिस्ट्रेशन अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है। लेकिन SHG एवं RDD के लिए रजिस्ट्रेशन जारी हैं। यदि आप कोई व्यक्तिगत व्यक्ति हैं और कॉमन सर्विस सेण्टर खोलना चाहते हैं तो आप इस वेबसाइट पर विजिट करते रह सकते हैं। क्योंकि VLE के लिए रजिस्ट्रेशन कभी भी शुरू हो सकते हैं।

जहाँ तक CSC से कमाई का सवाल है वह इस बात पर निर्भर करता है की आपके सेण्टर में कितने ग्राहक आते हैं। लेकिन जहाँ तक सर्लर का अनुमान था की एक कॉमन सर्विस सेण्टर 20-25 हज़ार रूपये कमाई कर पाने में समर्थ हो पायेगा । वैसे आप चाहें तो मौजूदा VLE से इस बारे में और अधिक जानकारी लेने की कोशिश कर सकते हैं।

Advertisement
Leave A Reply

Your email address will not be published.